Journal Edge

Related image

Image Credit: MakeMyTrip

यह मन्दिर भगवान राम का मन्दिर है। यहाँ ऋषि वशिष्ट ने तपस्या की थी। इस मन्दिर में गर्म पानी का श्रोत है जिस कारण ठन्ड़ में भी यहाँ नहाने वाले आते-रहते है। यहाँ के गर्म पानी से नहाने पर शरीर के चर्म रोग वाली बीमारियाँ दूर भागती है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, ऋषि वशिष्‍ठ जो हिंदू धर्म के मुख्‍य 7 ऋषियों में एक थे, उन्‍होने अपने पुत्र की विश्‍वामित्र द्वारा हत्‍या किए जाने के बाद नदी में कूद कर जान देने का प्रयास किया लेकिन पानी के बहाव मेंऋषि बहते गए और इस गांव में आकर बच गए, इसलिए इस गांव को वशिष्‍ठ गांव कहा जाता है। इसके बाद ऋषि वशिष्‍ठ ने इस गांव में अपने जीवन की एक नई शुरूआत कर दी थी। इस घटना के बाद यहां बहने वाली व्‍यास नदी को विपाशा नदी के नाम से पुकारा जाने लगा था जिसका अर्थ होता है –…

View original post 16 more words

Advertisements